ताजा प्रविष्ठियां

Friday, September 4, 2009

ब्लोगरों के लिए भी टेंशन

ब्लोगरो सावधान , अब इस राह में भी कांटे हैं ।
मतलब , मैं चाहे ये लिखूं, मैं चाहे वो लिखूं……….., मेरी मर्जी ।


नहीं चलेगा, क्योंकि मर्जी गधे की मानी जाती है।
ये फोटो (समाचार) बता रहा है कि धीरे-धीरे ब्लोगरों को

सोच-समझ कर लिखने के लिए ढाला जा रहा है ।

अभी अमरीका में हुआ है ,संक्रमण वहीं से चारों और फैलता है।

इसलिए ,सावधान ।

1 comment:

  1. टेंशन की बात तो अवश्‍य है !!

    ReplyDelete

हिन्दी में कमेंट्स लिखने के लिए साइड-बार में दिए गए लिंक का प्रयोग करें